प्रभु यीशु मंगल करे (Lord Jesus shall Tue)

प्रभु यीशु मंगल करे


ईसाई के सदन में , जो लगवावे क्रास।

प्रभु यीशु मंगल करे , दूर करे सब त्रास।।

दूर करे सब त्रास , यवन घर चाँद-सितारे।

अल्ला - ताला पास , आय नसीब संवारे।।

कह `वाणी´ कविराज, भवन में एक ओंकार।

सिक्ख सदा प्रसन्न , रह सदन में सपरिवार।।

शब्दार्थ : यीशु = ईसाई धर्मानुसार ईश्वर, यवन = मुसलमान, नसीब = भाग्य


भावार्थ : ईसाई बन्धुओं को अपने सदन में क्रास का चिन्ह अवश्य लगवाना चाहिए, इससे प्रभु सब संकट दूर करते हुए आनन्द कर देते हैंं। मुस्लिम भाइयों द्वारा अपने घरों पर चाँद-सितारे बनवाने से भाग्य के सितारे बुलिन्दयों को छूते और अल्ला-ताला आपके मुकाम पर आकर बिगड़ी नसीब को संवारते हैं।


`वाणी´ कविराज कहते हैं कि सिक्ख साथियों द्वारा सदन में एक ओंकार का निशान बनवाने से उस परिवार में सदैव प्रसन्नता बनी

रहती है।


1 टिप्पणी:

vishal ने कहा…

good information about indian vastu

vishal kumawat

ShareThis

कॉपीराइट

इस ब्लाग में प्रकाशित मैटर पर लेखक का सर्वाधिकार सुऱक्षित है. इसके किसी भी तथ्य या मैटर को मूलतः या तोड़- मरोड़ कर प्रकाशित न करें. साथ ही इसके लेखों का किसी पुस्तक रूप में प्रकाशन भी मना है. इस मैटर का कहीं उल्लेख करना हो तो पहले लेखक से संपर्क करके अनुमति प्राप्त कर लें |
© 2010 अमृत 'वाणी'.com